14 सितंबर को साहित्य अकादमी के परिसर हिंदी सप्ताह का उद्धाटन हुआ | यह उत्सव 14 सितंबर से 21 सितंबर तक अकादमी परिसर में संचालित होगा | अपने उद्धाटन संबोधन में मुख्य अतिथि एवं हिंदी के प्रख्यात कथाकार सह भासाकर्मी श्री प्रेमपाल शर्मा ने भारतीय भाषाओं की घटती प्रसांगिकता पर चिंता व्यक्ति की, उन्होंने भारतीय भाषाओके रोजगार दिलाने में अक्षम होने पर अपनी निराशा व्यक्त की | उन्होंने प्रतियोगी परीक्षाओ जैसे की संघ लोकसेवा आयोग एवं कर्मचारी चयन आयोग में भाषाई उपेक्षा से पीड़ित छात्रों के प्रति अपनी सहानुभूति व्यक्त की तथा सरकार से उनको संरक्षण देने की मांग की |

कार्यक्रम के प्रांरभ में अकादमी के सचिव डॉक्टर श्रीनिवास राव ने प्रेमपाल जी का स्वागत उन्हें पुस्तक भेंट करके किया | डॉक्टर राव ने सभी सरकारी कर्मियों को या तो राष्ट्रभासा अर्थात हिंदी का अधिक से अधिक उपयोग करने का अनुरोध किया | उन्होंने अहिन्दी भासा कर्मिओ के लिय भारत सरकार दारा चलाई जा रही हिंदी प्रशिक्षण कार्यक्र्म की जानकारी दी | भारत सरकार की संस्कृति मंत्रालय की सचिव रश्मि वर्मा ने भी सरकारी कर्यो में हिंदी के उपयोग पर बल दिया |


Latest News